Posts

Showing posts from 2017

Hindi Poem on Valor of Rani Padmini

मुझे न जाना गंगासागर
मुझे न रामेश्वर, काशी
तीर्थराज #चित्तौड़ देखने को
मेरी आँखें प्यासी..!
श्‍याम नारायण पाण्‍डेय की अमर रचना #जौहर की यह पंक्तियॉं पढ़ते-गाते हुए हमारा बचपन बीता। रानी पद्मिनी का धीरोदात्त चरित्र हमारे मन में अंकित था, और थाल सजाकर उस भूमि की पूजा करने का जो भाव इस कविता में वर्णित है, वह हमारे दिलों में उमड़ता—घुमड़ता था। 
#पद्मिनी इस देश और भारतीय नारी-जाति के स्वाभिमान और आत्मगौरव की प्रतीक थीं।  धीरे-धीरे ऐसी कविताएं और चरित्र पाठ्यक्रमों और लोकजीवन से लुप्त होते गये और इनकी जगह 'बाबा ब्लैक शीप' और 'हम्टी—डम्टी सैट ऑन ए वॉल' जैसी कविताओं ने ले ली।ख़ैर आप लोग वीर रस की यह पंक्तियाँ पढ़िये -थाल सजाकर किसे पूजने
चले प्रात ही मतवाले ?
कहाँ चले तुम राम नाम का
पीताम्बर तन पर डाले ?कहाँ चले ले चन्दन अक्षत
बगल दबाए मृगछाला ?
कहाँ चली यह सजी आरती ?
कहाँ चली जूही माला ?ले मुंजी उपवीत मेखला
कहाँ चले तुम दीवाने ?
जल से भरा कमंडलु लेकर
किसे चले तुम नहलाने ?मौलसिरी का यह गजरा
किसके गज से पावन होगा ?
रोम कंटकित प्रेम - भरी
इन आँखों में सावन होगा ?चले झूमते मस्…

Misrepresentations of the Hindu Tradition : Talk by Pravrajika Vrajaprana

Image
Misrepresentation of Hindu tradition in academia and media: We live in a global society in which the religious and the nonreligious live door to door, yet the prevailing social trend is toward increasing secularization. Along with it have come competing for truth claims concerning who is qualified to speak for a religion. Perhaps more than any other religion in the United States, Hinduism has been subject to intense debate over who is qualified to accurately represent its philosophy and practice. The contending groups are primarily two—one, Hindu practitioners (“insiders”), and second, non-practitioners (Hindu or not) such as academics and journalists (“outsiders”), whose presumed objectivity is deemed to give them greater insight and intellectual freedom. The debate has played out painfully and with great controversy in recent decades. Pravrajika Vrajaprana examines a number of issues in the debate as well as what is at stake for the American Hindu community.


About The Speaker:
Pravra…

भारत में मुसलमानो के 800 वर्ष के शासन का झूठ : श्री राजिव दीक्षित द्वारा

क्या भारत में मुसलमानों ने 800 वर्षों तक शासन किया है-
सुनने में यही आता है पर न कभी कोई आत्ममंथन करता है और न इतिहास का सही अवलोकन। आईये देखते हैं, इतिहास के वास्तविक नायक कौन थे? और उन्होंने किस प्रकार मुगलिया ताकतों को रोके रखा और भारतीय संस्कृति की रक्षा में सफल रहे।राजा दाहिर : प्रारम्भ करते है मुहम्मद बिन कासिम के समय से-
भारत पर पहला आक्रमण मुहम्मद बिन ने 711 ई में सिंध पर किया। राजा दाहिर पूरी शक्ति से लड़े और मुसलमानों के धोखे के शिकार होकर वीरगति को प्राप्त हुए।बप्पा रावल: दूसरा हमला 735 में राजपुताना पर हुआ जब हज्जात ने सेना भेजकर बप्पा रावल के राज्य पर आक्रमण किया। वीर बप्पा रावल ने मुसलमानों को न केवल खदेड़ा बल्कि अफगानिस्तान तक मुस्लिम राज्यों को रौंदते हुए अरब की सीमा तक पहुँच गए। ईरान अफगानिस्तान के मुस्लिम सुल्तानों ने उन्हें अपनी पुत्रियां भेंट की और उन्होंने 35 मुस्लिम लड़कियों से विवाह करके सनातन धर्म का डंका पुन: बजाया। बप्पा रावल का इतिहास कही नहीं पढ़ाया जाता। यहाँ तक की अधिकतर इतिहासकर उनका नाम भी छुपाते है। गिनती भर हिन्दू होंगे जो उनका नाम जानते हैं!दूसरे ही युद्…

Misinformation propagated against Hinduism by Reza Aslan and CNN's 'Believer'

Image
Rajiv Malhotra & Hindu Students Council Discuss CNN's Latest Hinduphobia (video):

Reza Aslan’s ‘Believer’- An Exhibit of Unconcealed Hinduphobia (article) http://indiafacts.org/reza-aslans-believer-exhibit-unconcealed-hinduphobia/

Beyond belief (article) http://indiafacts.org/beyond-belief-not/

CNN’s ‘Believer’ Is Reckless, Racist And Dangerously Anti-Immigrant (article by Vamsee Juluri, professor of media studies at the University of San Francisco ) http://www.huffingtonpost.com/entry/cannibals-and-corpses-cnns-believer-is-reckless-racist_us_58bbc5fee4b02eac8876cfad

How To React To CNN’s ‘Believer’ Series (article) https://swarajyamag.com/culture/how-to-react-to-cnns-believer-series-laught-it-off-and-pursue-real-power

Defence of Hindu 'rituals' (article) https://swarajyamag.com/culture/a-defence-of-hindu-ritualism-and-superstition

How others see Reza?
-------------------------

Reza Aslan and the Myth of Information http://www.huffingtonpost.com/entry/reza-aslan-and-t…

हम सब मूलत: हिन्दू ही हैं: श्री मुहम्मद करीम छागला

Image
हम सब मूलत: हिन्दू ही हैं : श्री मुहम्मद करीम छागला  Mahommedali Currim Chagla was an Indian jurist, diplomat, and Cabinet Minister who served as Chief Justice of the Bombay High Court from 1948 to 1958. He wrote that all Indians are Hindus.

Treasure of Dharmik E-Books (FREE)

For the benifit of readers and spread availability of great work of wisdom a treasure trove of literature is open free to readers and seekers. यह ई पुस्तकालय है, जिसमें दर्जनों अमूल्य ग्रंथों के PDF सहेजे गए हैं, ताकि यह अधिक से अधिक लोगों के काम आ सकें, धर्म और राष्ट्र संबंधी विषय पर PDF में अमूल्य पुस्तकें इन लिंक में संग्रहित हैं, आप विषय देखकर लिंक खोलें तो बहुत सी पुस्तकें मिलेंगी, सभी पुस्तकें आप निशुल्क download कर सकते हैं, इन लिंक्स में सैकड़ों किताबें हैं, जो कई पीढ़ियों की मेहनत का फल हैं, इस हिंद महासागर से मोती चुन लें... Swami Dayananda - स्वामी दयानंद :
https://drive.google.com/folder/d/0B1giLrdkKjfRZnUxOEpPSVBHVzQ/edit Aadi Shankaracharya - आद्य शंकराचार्य : https://drive.google.com/open?id=0B1giLrdkKjfRallkZ0VIWnRPVjA Sri Aurobindo - श्री अरविंदो :
https://drive.google.com/open?id=0B1giLrdkKjfRSWktaVFPa2tSa2s Swami Vivekanand - स्वामी विवेकानन्द :
https://drive.google.com/open?id=0B1giLrdkKjfRMFAtTi1yUFAzdW8 Swami Ramteerth - स्वामी रामतीर्थ :
https://drive.google.com/open…

E Book Aahuti - Communist Atrocities in Kerala

Killings of innocent nationalist people by Communist (left) from Kerala is profiled in this e-book. Hundreds of RSS, BJP and ABVP workers (men, women of all ages) are murdered by communists of Kerala. This hardly is reported in media. Here is an e-book on those sacrifices.

Aahuti - The Untold Stories of Sacrifice in Kerala by Sanatan Sarvada on Scribd